अपनी ‘आदतों’ के अनुसार चलने में इतनी ‘गलतियां’ नहीं होती

अपनी आदतों के अनुसार चलने में इतनी गलतियां नहीं होती |

जितना दुनिया का ख्याल और लिहाज़ रखकर चलने में होती है ||

स्वभाव भी इंसान की अपनी कमाई

स्वभाव भी इंसान की अपनी कमाई हुयी सबसे बड़ी दौलत है…

कितना भी किसी से दूर हों,

पर अच्छे स्वभाव के कारण आप किसी न किसी पल यादों में आ ही जाते हो।

कर्मो से ही पहेचान होती है इंसानो की

बदला लेने में क्या मजा है
मजा तो तब है जब तुम सामने वाले को बदल डालो..||

इन्सान की चाहत है कि उड़ने को पर मिले,
और परिंदे सोचते हैं कि रहने को घर मिले…

‘कर्मो’ से ही पहेचान होती है इंसानो की…
महेंगे ‘कपडे’ तो, ‘पुतले’ भी पहनते है दुकानों में !!..

🐾 स्नेह वंदन 🐾

इंसान लफ्ज का गुलाम बन जाता है

बोलने से पहले लफ्ज इंसान के गुलाम होते है…

लेकिन बोलने के बाद इंसान लफ्ज का गुलाम बन जाता है।

आप घर पर रहे,स्वस्थ रहे,मस्त रहे,व्यस्त रहे!