उस रंग से मैं खुद को रंग दूँ

रीत का रंग पीला, नेह का रंग नीला,

हर्ष का हरा, लावण्य की लाली,

प्रेम के जल में हमने मिला ली,

उस रंग से मैं खुद को रंग दूँ,

इसको रंग दूँ उसको रंग दूँ,

आपको होली की मंगलकामनाएं

Related Shayari

इस तरह प्यार नहीं होता

दर्द है दिल में पर इसका एहसास नहीं होता, रोता है दिल जब वो पास नहीं होता. बर्बाद हो गये हम उसके प्यार में, और वो कहते हैं इस तरह प्यार नहीं होता.
Read more...

इंतजार

तुम पर भी यकीन है और मौत पर भी ऐतबार है. देखते हैं पहले कौन मिलता है हमें दोनों का इंतजार है.
Read more...

जो ठान लेता है वो जीत जाता है

जिंदगी में जीत और हार तो हमारी सोच बनाती है, जो मान लेता है वो हार जाता है, जो ठान लेता है वो जीत जाता है!!
Read more...

You may also like

दोस्ती से बड़ी इबादत

रिश्तों से बड़ी चाहत और क्या होगी, दोस्ती से बड़ी इबादत और क्या होगी, जिसे दोस्त मिल सके कोई आप जैसा, उसे ज़िन्दगी से कोई और शिकायत क्या होगी।
Read more...

Har Ek Haseen Chehre Mein Gumaan Uska Tha

Har Ek Haseen Chehre Mein Gumaan Uska Tha,
Basaa Na Koi Dil Mein Ye Makaan Uska Tha,
Tamaam Dard Mit Gaye Mere Dil Se Lekin,
Jo Na Mit Saka Woh Ek Naam Uska Tha.

Read more...

तुमसे प्यार करता हूँ कोई भी

ये मत पुछ कि मैं तुमसे कितना प्यार करता हूँ? बस इतना जान लो कि, बस तुमसे करता हूँ और बेपनाह करता हूँ।
Read more...

वक़्त गुजर जायेगा…

साथ रहते यूँ ही वक़्त गुजर जायेगा, दूर होने के बाद कौन किसे याद आयेगा, जी लो ये पल जब तक साथ है दोस्तों, कल क्या पता वक़्त कहाँ ले के जायेगा।
Read more...

वहम से भी अक्सर खत्म हो जाते हैं कुछ रिश्ते

वहम से भी अक्सर खत्म हो जाते हैं कुछ रिश्ते
कसूर हर बार गल्तियों का नही होता

vaham se bhi aksar khatm ho jaate hain kuchh rishte
kasoor har baar galtiyon ka nahee hota

Read more...

प्यार के रिश्ते की हो गयी है

Read more...