इल्ज़ाम हर गुनाह का मुझ पर लगाया जा रहा है

इल्ज़ाम हर गुनाह का मुझ पर लगाया जा रहा है,
हर बुरे चेहरे को मुझ सा बताया जा रहा है,
सबूत मांग रहे है मगर वक़्त न दे रहे समझाने का
और रिश्ता टूटा उसकी कमी से और जिम्मेदार मुझे बताया जा रहा है।