मार के अपनो को किस…

मार के अपनो को किस जन्नत का इंतज़ार किए बैठा है,
खून से सना मासूमो का जिहादी चोला तू शान से पहने बैठा है,
और क़ुर्बान होने पर फरिश्ते और हूरे मिलेगी वहां ऊपर,
ये एक गलत फहमी है जो तू गलती से पाल कर मुस्कान लिए बैठा है।

इल्ज़ाम हर गुनाह का मुझ पर लगाया जा रहा है

इल्ज़ाम हर गुनाह का मुझ पर लगाया जा रहा है,
हर बुरे चेहरे को मुझ सा बताया जा रहा है,
सबूत मांग रहे है मगर वक़्त न दे रहे समझाने का
और रिश्ता टूटा उसकी कमी से और जिम्मेदार मुझे बताया जा रहा है।

अब शांत बैठूंगा

अब शांत बैठूंगा !

शोर इतना भरा है मेरे भीतर ,
जो इन दुनिया को करदे तीतर बितर,
जो ना रोया कभी वो भी रो दे
गर सुन ले मेरे दर्द के कुछ आखर !
निभाया शिद्दत से सब कुछ खुद को भुलाकर,
ज़मीन तक पर गिर सबको फलक पर उठाकर,
अपने आँसुओं से भर दू जाने कितने सागर
मेरी दास्तान सुन रोये पूजे जाने वाले पाथर !

खूब मुस्कुराते है और अपना दर्द किसी खास को ही बताते है

खूब मुस्कुराते है और अपना दर्द किसी खास को ही बताते है,
जी हाँ हम लड़के है हम खुद के टूटने पर भी जश्न मनाते है,
मिन्नत नही करते किसी से रुकने की ज़िंदगी मे,
हम उजाड़ कर खूद का आशियाँ दुसरो का घर बसाते है।
झुकते नही दुनिया के सामने बस प्यार के आगे सर अपना झुकाते है,
माँ बाप के पैर चुम कर उसी को अपनी जन्नत बताते है,
अकड़ गुस्सा सब रावण सा भरा है हमारे अन्दर,
मगर नाम रावण रख कर भी दानपुण्य राम सा कर जाते है,
और कभी मांगते नही शाबाशी भीख में किसी अच्छे काम की ,
जी हां हम शांत सबसे छुपकर फरिश्तों सा काम कर जाते है,
अंदर से टूट कर भी मुस्कुराते है और अकेले में आंसू बहाते है,
क्योंकि हम लड़के है और खुद के टूटने पर भी जश्न मनाते है !

उलझे रहने से बेहतर दूर जाना अच्छा है

उलझे रहने से बेहतर दूर जाना अच्छा है,
शिकायतों से बेहतर मुह मोड़ना अच्छा है,
जब ना दिखे प्यार उनकी नज़रो में आपके लिए
तो उनको उनके हाल पर छोड़ देना अच्छा है,
झुटे वादों से यह तन्हाई का आलम अच्छा है,
और बेइज़्ज़त के साथ से जुदाई का मौसम अच्छा है।

Keep your Self Esteem

जोड़े सबके सपने और टूटा दिल उस से ज्यादा,

रोया अंदर से बहुत और तड़पा हद से ज्यादा,

मगर झुका नही सर कभी किसी के सामने

क्योंकि भीख मांगी नही और आन बान शान दुनिया से ज्यादा !

अकड़ पूरी है और गुस्सा आग से ज्यादा,

दिल साफ है और बवाल हद से ज्यादा,

हक़ का मांगा और परवाह नही किसी को खोने की

क्योंकि गलती है नही और वफादारी सबसे ज्यादा !